पोस्ट

पाब्लो नेरुदा की छह कविताएँ

बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी पाब्लो नेरुदा का जन्म दक्षिण अमरीकी देश चिली के एक छोटे से कस्बे पराल में 12 जुलाई 1904 को हुआ था। नेरुदा  का मूल नाम नेफ्ताली रिकार्दो रेइस बासोल्ता था। ।नेरुदा का  पहला काव्य संग्रह 'ट्वेंटी लव पोयम्स एंड ए साँग ऑफ़ डिस्पेयर' बीस साल की उम्र में ही प्रकाशित हो गया था।  उनकी कविताओं में राजनीतिक चेतना के साथ साथ उदात्त प्रेम उनके कवित्व को उस समग्र मानवीय चेतना से भर देता है, जो मनुष्यता का हमेशा पक्षधर रहा है। नेरुदा की कविताओं में लोक का स्वर है। लोक का सुख दुःख और लोक की अनुभूतियाँ हैं। इसी बिना पर उन्हें लोकधर्मी कवि माना जाता है। नेरुदा सिर्फ कवि ही नहीं थे, बल्कि वे एक्टिविस्ट भी थे। इसीलिए अपने देश के तानाशाहों के खिलाफ आवाज उठाने में वे कभी हिचके नहीं।  'माच्चु पिच्चु के शिखर' और 'कैंटो जनरल' जैसी रचनाओं ने नेरुदा को विश्व स्तरीय ख्याति दिलाई। नेरुदा ने अपनी रचनाओं से कई पीढ़ियों के कवियों को प्रभावित किया। चिली के साम्यवादी शासक  अलेंदे ने नेरुदा को सन 1971 में  फ्रांस  में चिली का राजदूत  नियुक्त कर दिया। इसी वर्ष उन्हें साहि

जितेंद्र श्रीवास्तव से चैनसिंह मीना की बातचीत

इमेज
  जितेंद्र श्रीवास्तव       हिंदी कविता : कल और आज- प्रो. जितेंद्र श्रीवास्तव     परिचय : प्रो. जितेंद्र श्रीवास्तव कविता संग्रह: ‘ इन दिनों हालचाल ’, ‘ अनभै कथा ’, ‘ असुंदर सुंदर ’, ‘ बिल्कुल तुम्हारी तरह ’, ‘ कायांतरण ’, ‘ कवि ने कहा ’, ‘ बेटियाँ ’, ‘ उजास ’, ‘ सूरज को अँगूठा ’ । आपकी कविताएँ विविध भाषाओं यथा अंग्रेजी , उर्दू , मराठी , उड़िया और पंजाबी में अनुदित हैं। आलोचनात्मक पुस्तकें: ‘ शब्दों में समय ’, ‘ आलोचना का मानुष-मर्म ’, ‘ भारतीय समाज , राष्ट्रवाद और प्रेमचंद ’, ‘ सर्जक का स्वप्न ’, ‘ विचार धारा , नए विमर्श और समकालीन कविता ’, ‘ उपन्यास की परिधि ’ ‘ रचना का जीवदृव्य ', ‘ कहानी का क्षितिज ’ आदि।    आप अभी तक भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार , देवीशंकर अवस्थी सम्मान , कृति सम्मान , रामचंद्र शुक्ल पुरस्कार , विजयदेव नारायण साही पुरस्कार , डॉ. रामविलास शर्मा आलोचना सम्मान , परंपरा ऋतुराज सम्मान , भारतीय भाषा परिषद कोलकाता का युवा सम्मान आदि पुरस्कारों से सम्मानित किये जा चुके हैं।   प्रो. जितेंद्र श्रीवास्तव वर्तमान में इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्