संदेश

July, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अस्मुरारी नंदन मिश्र का आलेख 'ईदगाह : एक पुनःपाठ'

चित्र

मदन कश्यप का आलेख 'कविता के पचास वर्ष'

चित्र
(चित्र : मदन कश्यप)

हिन्दी के जाने-माने कवि मदन कश्यप का जन्म  बिहार के वैशाली जिले में 29 मई 1954 को हुआ।

मदन जी की प्रमुख कृतियाँ हैं  - गूलर के फूल नहीं खिलते (1990), लेकिन उदास है पृथ्वी (1993),नीम रौशनी  में (2000), कुरुज, दूर  तक  चुप्पी

वर्ष 2009 में इन्हें शमशेर सम्मान प्रदान किया गया।

यह वर्ष मुक्तिबोध के निधन का पचासवां वर्ष है। मुक्तिबोध के निधन के वर्ष से लेकर आज तक हिन्दी कविता ने भी अपने प्रस्थान के पचास वर्ष पूरे कर लिए हैं। हिन्दी कविता के इस सफर का एक मूल्यांकन कर रहे हैं हमारे समय के महत्वपूर्ण और वरिष्ठ कवि मदन कश्यप। यद्यपि यह आलेख संशोधित प्रारूप में बया के अप्रैल-जून 2014 अंक में प्रकाशित हो चूका है। लेकिन पहली बार पर हम इसे उस सम्पूर्णता में प्रस्तुत कर रहे हैं जैसा कि मदन जी ने अपने मूल प्रारूप में लिखा था।